Sukanya Samriddhi Account, saving account, bank, beti bachao

Sukanya Samriddhi Account, saving account, bank, beti bachao

 

भारत सरकार ने देश में पैदा होने वाली लड़कियों को ध्यान में रखकर 2 दिसम्बर 2014 से ‘सुकन्या समृद्धिअकाउंट’ की शुरुआत की है. यह बहुत बढ़िया और खास अकाउंट है. इस अकाउंट की खास बात यह है कि इस बचत योजना के तहत सरकार द्वारा सबसे ज्यादा ब्याज देने की घोषणा की गई है. इस खाते के तहत जमा पैसों पर 9.1 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा.

आइये जानते हैं इस अकाउंट के बारे में

  • कौन खुलवा सकता है?

कोई भी माता-पिता अपनी बेटी के नाम पर यह खाता खुलवा सकते हैं. 1 दिन की उम्र से लेकर 10 साल तक की उम्र तक के बेटी के लिए उसके माता-पिता यह अकाउंट खुलवा सकते हैं.

 

  • कैसे खुलेगा यह अकाउंट?

इस अकाउंट को खुलवाने के लिए बेटी का जन्म प्रमाण पत्र और घर का पता होना जरूरी है.

 

  • कहां खुलेगा यह अकाउंट?

देश के किसी भी पोस्ट ऑफिस या व्यवसायिक बैंक में यह अकाउंट खोला जा सकता है. साथ ही यह पूरे देश भर में कही भी ट्रान्सफर भी हो सकता है.ssa1

 

  • कितने अकाउंट?

कोई भी माता-पिता अपनी बेटी के नाम पर अकाउंट खुलवा सकते हैं. लेकिन इसकी कुछ सीमा है. माता-पिता दो से ज्यादा बेटियों के नाम पर यह नहीं खुला सकते हैं. हां, इसके साथ कुछ अपवाद भी जोड़े गए हैं. अगर किसी को पहली बार एक बेटी होती है और दूसरे बार में जुड़वां बेटी होती है तो, वैसे केस में तीनों लड़कियों का अकाउंट खुल सकता है. इसके अलावा अगर पहली बार में ही मां तीन लड़कियों को जन्म देती है तो भी उन तीनों के नाम पर सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुल सकता है.

 

  • साल में कितना पैसा जमा कर सकते हैं?

यह अकाउंट 1000 रुपये से खुल सकता है. साल में आप इसमें 150000 रुपये से ज्यादा नहीं डाल सकते हैं. अगर किसी साल आपने पैसे नहीं डाले तो 50 रुपये के जुर्माने के साथ आप इस अकाउंट में फिर पैसे डाल सकते हैं.

 

  • पैसा कब-कब निकल सकता है?

खाता खोलने के 21 साल बाद इस अकाउंट से आप पूरे पैसे निकाल सकते हैं. उससे पहले लड़की के 18 साल पूरे होने पर जमा पैसे का 50 प्रतिशत आप लड़की की शादी, पढाई के लिए निकाल सकते हैं.

 

  • कितना ब्याज?

इस साल के लिए सरकार ने 9.1 प्रतिशत का ब्याज निर्धारित किया है. जो अब तक के किसी भी सेविंग अकाउंट में सबसे ज्यादा है. हर साल सरकार इसकी ब्याज दर को निर्धारित करेगी.

 

  • टैक्स छूट?

3 दिसम्बर 2014 को जरी हुए गजट के अनुसार सरकार ने अब तक इसके टैक्स को लेकर कोई घोषणा नहीं की है.

 

यह सरकार का एक अच्छा कदम है लेकिन 9.1 फीसदी के ब्याज से पढाई के बढ़ते खर्च को मैनेज किया जा सकता है, थोड़ा मुश्किल जान पड़ता है. बावजूद इसके यह एक अच्छा प्रोडक्ट है.