तकनीक ने लोगों की नींद हराम कर रखी है. वो ठीक से सो ही नहीं पाते हैं. WhatsApp, फेसबुक के नोटिफिकेशन लोगों को हर दूसरे मिनट फ़ोन देखने के लिए मजबूर कर देते हैं.

फाइनेंस के साथ भी यही हो रहा है. तकनीक ने लोगों के इन्वेस्टमेंट वैल्यूएशन को बताने का काम इतना आसान कर दिया है कि वो उस इन्वेस्टमेंट की वैल्यूएशन हर दिन, कई बार तो दिन में 5 बार तक देखते हैं.

इक्विटी मार्किट ने लोगों को जितना दिया है उससे कहीं ज्यादा लोगों को मिल सकता था लेकिन वो वैल्यूएशन देख उसको पे आउट करा लेते हैं. यकीन मानिये अगर आप अपने इन्वेस्टमेंट के साथ 15-20 साल बने रहेंगे तो आप उसके साथ अच्छा न्याय कर पाएंगे.

इन्वेस्टमेंट को कर के ‘सो जाइये’. साल में जरुर उसको 6 महीने साल भर में नजर डालिए.

2000 रुपये महीने के साथ आप करोड़ों कमा सकते हैं. लेकिन मुमकिन है कि आप महीने के 10000 रुपये इन्वेस्ट कर करोड़ तक भी ना पहुंच पाएं.

कैसे….इसे पढ़िए….. रिटायरमेंट के लिए प्लानिंग

दो दोस्तों के इन्वेस्टमेंट का फर्क